//आश्विन मेलों के लिए उपायुक्त ने की कार्यपालक दंडाधिकारी/सैक्टर अधिकारियों की नियुक्ति

आश्विन मेलों के लिए उपायुक्त ने की कार्यपालक दंडाधिकारी/सैक्टर अधिकारियों की नियुक्ति

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

नवरात्रों में गरामोड़ा और ग्वालथाई से आगे ट्रक, ट्रैक्टर में नहीं जा पाएंगे श्रद्धालु
नयना देवी मंदिर में मेलों के लिए उपायुक्त ने नियुक्त किए कार्यपालक दंडाधिकारी और सेक्टर अधिकारी
कोट थाना के तहत आने वाले क्षेत्रों में अस्त्र शस्त्र, गोला बारूद और तेजधार हथियार लेकर चलने पर रहेगा प्रतिबंध
संवाद न्यूज एजेंसी
बिलासपुर। श्री नयना देवी में 17 से 25 अक्तूबर तक आयोजित हो रहे नवरात्र मेले के दौरान कानून एवं व्यवस्था को सुचारु रूप से बनाए रखने के लिए जिला दंडाधिकारी राजेश्वर गोयल ने कार्यपालक दंडाधिकारी/सेक्टर अधिकारियों की नियुक्ति कर दी है।
उन्होंने बताया कि रमेश धीमान नायब तहसीलदार कलोल, रूप लाल नायब तहसीलदार कार्यालय मुख्य अरण्यपाल वन बिलासपुर, प्रेम लाल नायब तहसीलदार झंडूता और कर्म चंद नायब तहसीलदार भराड़ी, मुरारी लाल नायब तहसीलदार नम्होल, प्रकाश चंद नायब तहसीलदार कार्यालय भू अर्जन अधिकारी बिलासपुर लोक निर्माण विभाग को श्री नयना देवी जी आश्विन नवरात्र मेले के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए नियुक्त किया है। उन्होंने सभी कार्यपालक दंडाधिकारियों/सेक्टर अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे 16 अक्तूबर को सुबह 11 बजे मेला अधिकारी श्री नयना देवी जी में रिपोर्ट करना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि मेला अधिकारी इन अधिकारियों की तैनाती सेक्टरों में सेक्टर मेजिस्ट्रेट के तौर पर होगी। इसके अतिरिक्त नोडल अधिकारी तैनात किए गए कार्यपालक दंडाधिकारियों में से किसी एक अधिकारी को तहसील कार्यालय श्री नयना देवी जी स्थित स्वारघाट के सरकारी कार्यों के निपटारे के लिए प्रति नियुक्ति करें।
मेले के दौरान श्रद्धालुओं की संख्या को नियंत्रण करने एवं कानून व्यवस्था को उचित ढंग से बनाए रखने के लिए जिला दंडाधिकारी राजेश्वर गोयल ने मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 115 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए आदेश जारी किए हैं। मेले के दौरान ट्रक, कैंटर, ट्रैक्टर और टेंपो पर टोबा से श्री नयना देवी की तरफ आने जाने के लिए प्रतिबंध होगा। ट्रक, ट्रैक्टर व टेंपो में आने वाले श्रद्धालु हिमाचल प्रदेश की सीमा अर्थात गरामोड़ा और ग्वालथाई (भाखड़ा) टोबा से आगे श्री नयना देवी जी नहीं जा पाएंगे। उन्होंने बताया कि इन स्थानों से श्रद्धालु केवल बसों और टैक्सियों से ही श्री नयना देवी जी में आ सकेंगे। कहा कि टोबा से श्री नयना देवी जी सड़क मार्ग पर केवल बसों और छोटे वाहनों की आवाजाही होगी।
वहीं, उपायुक्त ने आदेश जारी किए हैं कि पुलिस थाना कोटकहलूर के क्षेत्र में इस दौरान अस्त्र शस्त्र, गोला बारूद, दूर से मार करने वाले हथियार और तेजधार हथियार इत्यादि उठाकर चलने पर पूर्णतया प्रतिबंध होगा। उन्होंने बताया कि ये आदेश पुलिस बल पर लागू नहीं होंगे। मेले के दौरान लोगों की भीड़ को देखते हुए आदेश जारी किए हैं कि मेला परिसर श्री नयना देवी जी में लाउड स्पीकर, ढोल नगाड़े तथा बैंड बाजे आदि के प्रयोग पर पूर्णतया प्रतिबंध रहेगा।

नवरात्रों में गरामोड़ा और ग्वालथाई से आगे ट्रक, ट्रैक्टर में नहीं जा पाएंगे श्रद्धालु

नयना देवी मंदिर में मेलों के लिए उपायुक्त ने नियुक्त किए कार्यपालक दंडाधिकारी और सेक्टर अधिकारी

कोट थाना के तहत आने वाले क्षेत्रों में अस्त्र शस्त्र, गोला बारूद और तेजधार हथियार लेकर चलने पर रहेगा प्रतिबंध

संवाद न्यूज एजेंसी
बिलासपुर। श्री नयना देवी में 17 से 25 अक्तूबर तक आयोजित हो रहे नवरात्र मेले के दौरान कानून एवं व्यवस्था को सुचारु रूप से बनाए रखने के लिए जिला दंडाधिकारी राजेश्वर गोयल ने कार्यपालक दंडाधिकारी/सेक्टर अधिकारियों की नियुक्ति कर दी है।
उन्होंने बताया कि रमेश धीमान नायब तहसीलदार कलोल, रूप लाल नायब तहसीलदार कार्यालय मुख्य अरण्यपाल वन बिलासपुर, प्रेम लाल नायब तहसीलदार झंडूता और कर्म चंद नायब तहसीलदार भराड़ी, मुरारी लाल नायब तहसीलदार नम्होल, प्रकाश चंद नायब तहसीलदार कार्यालय भू अर्जन अधिकारी बिलासपुर लोक निर्माण विभाग को श्री नयना देवी जी आश्विन नवरात्र मेले के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए नियुक्त किया है। उन्होंने सभी कार्यपालक दंडाधिकारियों/सेक्टर अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे 16 अक्तूबर को सुबह 11 बजे मेला अधिकारी श्री नयना देवी जी में रिपोर्ट करना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि मेला अधिकारी इन अधिकारियों की तैनाती सेक्टरों में सेक्टर मेजिस्ट्रेट के तौर पर होगी। इसके अतिरिक्त नोडल अधिकारी तैनात किए गए कार्यपालक दंडाधिकारियों में से किसी एक अधिकारी को तहसील कार्यालय श्री नयना देवी जी स्थित स्वारघाट के सरकारी कार्यों के निपटारे के लिए प्रति नियुक्ति करें।
मेले के दौरान श्रद्धालुओं की संख्या को नियंत्रण करने एवं कानून व्यवस्था को उचित ढंग से बनाए रखने के लिए जिला दंडाधिकारी राजेश्वर गोयल ने मोटर वाहन अधिनियम 1988 की धारा 115 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए आदेश जारी किए हैं। मेले के दौरान ट्रक, कैंटर, ट्रैक्टर और टेंपो पर टोबा से श्री नयना देवी की तरफ आने जाने के लिए प्रतिबंध होगा। ट्रक, ट्रैक्टर व टेंपो में आने वाले श्रद्धालु हिमाचल प्रदेश की सीमा अर्थात गरामोड़ा और ग्वालथाई (भाखड़ा) टोबा से आगे श्री नयना देवी जी नहीं जा पाएंगे। उन्होंने बताया कि इन स्थानों से श्रद्धालु केवल बसों और टैक्सियों से ही श्री नयना देवी जी में आ सकेंगे। कहा कि टोबा से श्री नयना देवी जी सड़क मार्ग पर केवल बसों और छोटे वाहनों की आवाजाही होगी।
वहीं, उपायुक्त ने आदेश जारी किए हैं कि पुलिस थाना कोटकहलूर के क्षेत्र में इस दौरान अस्त्र शस्त्र, गोला बारूद, दूर से मार करने वाले हथियार और तेजधार हथियार इत्यादि उठाकर चलने पर पूर्णतया प्रतिबंध होगा। उन्होंने बताया कि ये आदेश पुलिस बल पर लागू नहीं होंगे। मेले के दौरान लोगों की भीड़ को देखते हुए आदेश जारी किए हैं कि मेला परिसर श्री नयना देवी जी में लाउड स्पीकर, ढोल नगाड़े तथा बैंड बाजे आदि के प्रयोग पर पूर्णतया प्रतिबंध रहेगा।



Source link

I am a doctor from Himachal. settled outside Himachal and hungry for news about Himachal.