//नीति आयोग के सदस्य ने चेतायाः सर्दियों में खतरनाक हो सकता है # Coronavirus

नीति आयोग के सदस्य ने चेतायाः सर्दियों में खतरनाक हो सकता है # Coronavirus

सरकार की ओर से नियुक्‍त वैज्ञानिकों की एक कमेटी का अनुमान


नीति आयोग के सदस्य ने चेतायाः सर्दियों में खतरनाक हो सकता है # Coronavirus

नई दिल्ली। देश में पिछले कुछ समय से कोरोना(Corona) के मामले बेशक कम हुए हो लेकिन आने वाले मौसम में इसकी दूसरी लहर से इनकार नहीं किया जा सकता। नीति आयोग ( NITI Aayog) के सदस्य वीके पॉल ने रविवार को कहा कि पिछले तीन हफ्ते से देश में भले ही कोरोना वायरस संक्रमण ( Corona virus infection) के नए मामलों और इससे होने वाली मौतों में कमी आ रही है। लेकिन सर्दियों के मौसम में कोरोना की दूसरी लहर से इनकार नहीं किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: कोरोना ब्रेकिंगः #Himachal में ठीक होने वालों का आंकड़ा 16 हजार पार, आज 178 रिकवर

पॉल महामारी से निपटने के प्रयासों में समन्वयन के लिए गठित विशेषज्ञ पैनल के प्रमुख भी हैं। सरकार की ओर से नियुक्‍त वैज्ञानिकों की एक कमेटी का अनुमान है कि भारत में अब कोरोना वायरस संक्रमण का पीक गुजर चुका है। महामारी की दूसरी लहर की आशंका को खारिज नहीं किया जा सकता है और इस कारण फरवरी 2021 में भारत में कोरोना के सक्रिय केस 1.06 करोड़ से अधिक होने की आशंका है। कमेटी का कहना है कि ऐसे में देश में कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ बचाव वाले जरूरी कदम ऐसे ही चालू रहने चाहिए। अगर भारत में मार्च में कोरोना के बढ़ते मामलों पर रोक लगाने के लिए लॉकडाउन न लगाया जाता तो देश में अब तक कोविड 19 से होने वाली मौतों का आंकड़ा 25 लाख पार कर जाता। लेकिन लॉकडाउन के कारण फायदा मिला और अब तक देश में 1.14 लाख मौतें हुई हैं। हालांकि सर्दियों में कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर भी चिंता व्‍यक्‍त की गई है। सरकार की ओर से गठित की गई वैज्ञानिकों की इस कमेटी में केंद्र सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार विजय राघवन भी शामिल हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

loading…



Source link

I am a doctor from Himachal. settled outside Himachal and hungry for news about Himachal.