//न स्वास्थ्य सेवाएं और न ही सड़क सुविधा, लोगों की जिंदगी बेहाल

न स्वास्थ्य सेवाएं और न ही सड़क सुविधा, लोगों की जिंदगी बेहाल

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

शाहतलाई (बिलासपुर)। विकास खंड झंडूता के तहत पिछड़ा क्षेत्र कोटधार की ग्राम पंचायत कोसरियां आज भी विकास से कोसों दूर है। ग्राम पंचायत कोसरियां में कुल 1735 मतदाता हैं। पंचायत में सात वार्ड हैं। वार्ड सात जंगल जय श्री देवी में कुल मतदाता 461 हैं। यह महिलाओं के लिए आरक्षित है।
वार्ड नंबर दो कोसरियां में कुल मतदाता 280 हैं। यह अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित है। वार्ड नंबर तीन कोसरियां में दो कुल मतदाता 201 हैं, यह अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। वार्ड चार घरवासड़ा में कुल मतदाता 201 हैं, यह अनारक्षित है। वार्ड नंबर पांच कोठी में कुल मतदाता 282 हैं, यह अनारक्षित है। वार्ड नंबर छह वॉगड़ में कुल मतदाता 261 हैं, यह महिला के लिए आरक्षित है। जबकि वार्ड सात टानगू में कुल मतदाता 250 हैं, यह अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। जबकि पंचायत प्रधान पद भी महिला के लिए आरक्षित है।
उल्लेखनीय है कि कोसरियां ग्राम पंचायत अति दुर्गम व पिछड़ी है। यह पंचायत एक ओर से गोविंद सागर झील से घिरी हुई है। पंचायत के रास्तों और संपर्क सड़कों में नाले बन गए हैं। वाहन तो दूर पैदल चलना जान जोखिम में डालने के बराबर है। इनको बनाने के बाद मरम्मत नहीं की गई है। स्वास्थ्य सेवा की पर्याप्त सुविधा नहीं है। गोविंद सागर झील किनारे बने घाटों के पक्का न होने से लोगों को दलदल में जान जोखिम में डालकर आना-जाना पड़ता है। उल्लेखनीय है कि श्री नयनादेवी से बाबा बालक नाथ मंदिर जाने के लिए श्रद्धालु मोटर वोट के रास्ते इसी पंचायत क्षेत्र से होकर गुजरते हैं। लेकिन पंचायत के रास्तों, घाटों और सड़कों की बदहाली से लोग परेशान हैं। पंचायत चुनावों में रास्ते, सड़कें, बरसात में रास्तों पर पानी खड़ा होना, गोबिंद सागर झील किनारे बने घाटों का पक्का न होना चुनावी मुद्दे के रूप में उभरकर सामने आ रहे हैं।

शाहतलाई (बिलासपुर)। विकास खंड झंडूता के तहत पिछड़ा क्षेत्र कोटधार की ग्राम पंचायत कोसरियां आज भी विकास से कोसों दूर है। ग्राम पंचायत कोसरियां में कुल 1735 मतदाता हैं। पंचायत में सात वार्ड हैं। वार्ड सात जंगल जय श्री देवी में कुल मतदाता 461 हैं। यह महिलाओं के लिए आरक्षित है।

वार्ड नंबर दो कोसरियां में कुल मतदाता 280 हैं। यह अनुसूचित जाति महिला के लिए आरक्षित है। वार्ड नंबर तीन कोसरियां में दो कुल मतदाता 201 हैं, यह अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। वार्ड चार घरवासड़ा में कुल मतदाता 201 हैं, यह अनारक्षित है। वार्ड नंबर पांच कोठी में कुल मतदाता 282 हैं, यह अनारक्षित है। वार्ड नंबर छह वॉगड़ में कुल मतदाता 261 हैं, यह महिला के लिए आरक्षित है। जबकि वार्ड सात टानगू में कुल मतदाता 250 हैं, यह अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। जबकि पंचायत प्रधान पद भी महिला के लिए आरक्षित है।

उल्लेखनीय है कि कोसरियां ग्राम पंचायत अति दुर्गम व पिछड़ी है। यह पंचायत एक ओर से गोविंद सागर झील से घिरी हुई है। पंचायत के रास्तों और संपर्क सड़कों में नाले बन गए हैं। वाहन तो दूर पैदल चलना जान जोखिम में डालने के बराबर है। इनको बनाने के बाद मरम्मत नहीं की गई है। स्वास्थ्य सेवा की पर्याप्त सुविधा नहीं है। गोविंद सागर झील किनारे बने घाटों के पक्का न होने से लोगों को दलदल में जान जोखिम में डालकर आना-जाना पड़ता है। उल्लेखनीय है कि श्री नयनादेवी से बाबा बालक नाथ मंदिर जाने के लिए श्रद्धालु मोटर वोट के रास्ते इसी पंचायत क्षेत्र से होकर गुजरते हैं। लेकिन पंचायत के रास्तों, घाटों और सड़कों की बदहाली से लोग परेशान हैं। पंचायत चुनावों में रास्ते, सड़कें, बरसात में रास्तों पर पानी खड़ा होना, गोबिंद सागर झील किनारे बने घाटों का पक्का न होना चुनावी मुद्दे के रूप में उभरकर सामने आ रहे हैं।



Source link

I am a doctor from Himachal. settled outside Himachal and hungry for news about Himachal.