//पहले दिन 310 स्वास्थ्य कर्मियों का होगा कोविड टीकाकरण

पहले दिन 310 स्वास्थ्य कर्मियों का होगा कोविड टीकाकरण

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

बिलासपुर। जिले में कोविड वैक्सीन के वितरण के लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी पूरी कर ली है। 16 जनवरी को जिले में 310 स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड का टीका लगाया जाएगा। कोविड वैक्सीनेशन के लिए विभाग ने जिले में चार स्थान चिह्नित किए हैं। जिला अस्पताल, सीएच मार्कंडेय, सीएच घुमारवीं और सीएचसी झंडूता में टीकाकरण की शुरुआत होगी।
करीब 9 माह के लंबे इंतजार के बाद कोविड वैक्सीन का इंतजार 16 मार्च को खत्म होने वाला है। कोरोना के खौफ के साये में जी रहे लोगों को इस टीके के आने के बाद राहत मिलेगी। स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों, आंगनबाड़ी और आशा, आयुर्वेद, 108 एंबुलेंस कर्मचारियों का पहले चरण में टीकाकरण होगा। इसके बाद पुलिस विभाग के जवानों का टीकाकरण होना है। अब राजस्व विभाग के लिए भी गाइडलाइन साफ हो गई है। पुलिस के साथ राजस्व विभाग के कर्मियों का भी टीकाकरण होगा। इसके बाद 50 वर्ष से ऊपर के लोग और जो गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं, उनका टीकाकरण किया जाएगा। 16 मार्च को सीएच मार्कंडेय में 80, सीएच घुमारवीं में 80 और सीएचसी झंडूता में 50 स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण होगा। वहीं जिला अस्पताल बिलासपुर में 100 कर्मियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। इन्हीं अस्पतालों से जिले में कोविड वैक्सीनेशन की शुरुआत होगी।
इनसेट
जिले में कुल 30 कोल्ड चेन प्वाइंट
जिला भर के सभी अस्पतालों में कोविड वैक्सीन को जमा करने के लिए कुल 30 कोल्ड चेन प्वाइंट बनाए गए हैं। एक बॉयल में 10 डोज होती हैं। वहीं एक लीटर स्पेस में 270 डोज जमा करने की क्षमता होती है। प्रथम चरण की वैक्सीनेशन के लिए जिला में भंडारण क्षमता काफी है। वहीं दूसरे और तीसरे चरण के लिए भी यह बहुत है। सरकार की ओर से तीन चरणों में वैक्सीन लगाने के आदेश हुए हैं। इसके लिए तैयारियां पूरी हैं।
डॉ. प्रकाश दड़ोच, सीएमओ बिलासपुर

बिलासपुर। जिले में कोविड वैक्सीन के वितरण के लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी पूरी कर ली है। 16 जनवरी को जिले में 310 स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड का टीका लगाया जाएगा। कोविड वैक्सीनेशन के लिए विभाग ने जिले में चार स्थान चिह्नित किए हैं। जिला अस्पताल, सीएच मार्कंडेय, सीएच घुमारवीं और सीएचसी झंडूता में टीकाकरण की शुरुआत होगी।

करीब 9 माह के लंबे इंतजार के बाद कोविड वैक्सीन का इंतजार 16 मार्च को खत्म होने वाला है। कोरोना के खौफ के साये में जी रहे लोगों को इस टीके के आने के बाद राहत मिलेगी। स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों, आंगनबाड़ी और आशा, आयुर्वेद, 108 एंबुलेंस कर्मचारियों का पहले चरण में टीकाकरण होगा। इसके बाद पुलिस विभाग के जवानों का टीकाकरण होना है। अब राजस्व विभाग के लिए भी गाइडलाइन साफ हो गई है। पुलिस के साथ राजस्व विभाग के कर्मियों का भी टीकाकरण होगा। इसके बाद 50 वर्ष से ऊपर के लोग और जो गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं, उनका टीकाकरण किया जाएगा। 16 मार्च को सीएच मार्कंडेय में 80, सीएच घुमारवीं में 80 और सीएचसी झंडूता में 50 स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण होगा। वहीं जिला अस्पताल बिलासपुर में 100 कर्मियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। इन्हीं अस्पतालों से जिले में कोविड वैक्सीनेशन की शुरुआत होगी।

इनसेट

जिले में कुल 30 कोल्ड चेन प्वाइंट

जिला भर के सभी अस्पतालों में कोविड वैक्सीन को जमा करने के लिए कुल 30 कोल्ड चेन प्वाइंट बनाए गए हैं। एक बॉयल में 10 डोज होती हैं। वहीं एक लीटर स्पेस में 270 डोज जमा करने की क्षमता होती है। प्रथम चरण की वैक्सीनेशन के लिए जिला में भंडारण क्षमता काफी है। वहीं दूसरे और तीसरे चरण के लिए भी यह बहुत है। सरकार की ओर से तीन चरणों में वैक्सीन लगाने के आदेश हुए हैं। इसके लिए तैयारियां पूरी हैं।

डॉ. प्रकाश दड़ोच, सीएमओ बिलासपुर



Source link

I am a doctor from Himachal. settled outside Himachal and hungry for news about Himachal.