//बिलासपुर नप अध्यक्ष पद के दो दावेदार

बिलासपुर नप अध्यक्ष पद के दो दावेदार

नगर परिषद चुनावों में जीतने के बाद भाजपा प्रत्याशी सदर विधायक सुभाष ठाकुर के साथ सामूहिक चित्र म?
– फोटो : BILASPUR

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

बिलासपुर। बिलासपुर नगर परिषद के चुनाव में भाजपा ने सात सीटों पर विजय हासिल कह है। वहीं कांग्रेस ने चार सीटों पर अपना कब्जा किया है। लेकिन अब नगर परिषद के अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। नगर परिषद अध्यक्ष की कुर्सी का कौन दावेदार होगा इसके लिए शहर में अब चर्चाओं का माहौल गरम है।
एक तरफ हाल ही में भाजपा में शामिल हुए कमलेंद्र कश्यप नप अध्यक्ष की कुर्सी के प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं। वहीं पूर्व पार्षद नरेंद्र पंडित की धर्मपत्नी वीना पंडित भी नप अध्यक्ष की दौड़ में हैं। बिलासपुर नप अध्यक्ष का पद इस बार महिला और पुरुष दोनों के लिए ओपन है। इसके चलते दोनों में से कोई इस पर विराजमान हो सकता है। लेकिन इस दौड़ में लगातार छठी बार पार्षद बने कमलेंद्र कश्यप का पलड़ा भारी दिख रहा है। अनुभव की मानें तो कमलेंद्र कश्यप का तजुर्बा और उन पर लोगों का भरोसा उन्हें अन्य पार्षदों से अलग करता है। वहीं दूसरी तरफ पहली बार चुनाव जीतकर पार्षद बनीं पूर्व पार्षद नरेंद्र पंडित की धर्मपत्नी वीना पंडित भी इस कुर्सी की प्रबल दावेदार मानी जा रही हैं।
नप चुनावों से ठीक पहले भाजपा ने कांग्रेस के कद्दावर नेता कमलेंद्र कश्यप को भाजपा में शामिल कर कांग्रेस को बड़ा झटका दिया था। वहीं कमलेंद्र ने वार्ड नंबर तीन से जीत दर्ज कर भाजपा को बढ़त दिलवाई। वहीं वीना पंडित ने भी वार्ड नंबर पांच से भारी मतों से अपने प्रतिद्वंद्वी को मात दी है। इन चुनावों में भाजपा ने नप पर अपना कब्जा तो कर लिया, लेकिन अध्यक्ष पद की कुर्सी के लिए कौन बाजी मारेगा, अब यह देखना बाकी है। कमलेंद्र कश्यप के सिर नप अध्यक्ष का ताज सजेगा या निर्दलीय पार्षद के तौर पर जीत हासिल करने वाले पूर्व पार्षद नरेंद्र पंडित की धर्मपत्नी वीना पंडित को अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठाया जाएगा, यह स्थिति जल्द ही साफ होगी।

बिलासपुर। बिलासपुर नगर परिषद के चुनाव में भाजपा ने सात सीटों पर विजय हासिल कह है। वहीं कांग्रेस ने चार सीटों पर अपना कब्जा किया है। लेकिन अब नगर परिषद के अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। नगर परिषद अध्यक्ष की कुर्सी का कौन दावेदार होगा इसके लिए शहर में अब चर्चाओं का माहौल गरम है।

एक तरफ हाल ही में भाजपा में शामिल हुए कमलेंद्र कश्यप नप अध्यक्ष की कुर्सी के प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं। वहीं पूर्व पार्षद नरेंद्र पंडित की धर्मपत्नी वीना पंडित भी नप अध्यक्ष की दौड़ में हैं। बिलासपुर नप अध्यक्ष का पद इस बार महिला और पुरुष दोनों के लिए ओपन है। इसके चलते दोनों में से कोई इस पर विराजमान हो सकता है। लेकिन इस दौड़ में लगातार छठी बार पार्षद बने कमलेंद्र कश्यप का पलड़ा भारी दिख रहा है। अनुभव की मानें तो कमलेंद्र कश्यप का तजुर्बा और उन पर लोगों का भरोसा उन्हें अन्य पार्षदों से अलग करता है। वहीं दूसरी तरफ पहली बार चुनाव जीतकर पार्षद बनीं पूर्व पार्षद नरेंद्र पंडित की धर्मपत्नी वीना पंडित भी इस कुर्सी की प्रबल दावेदार मानी जा रही हैं।

नप चुनावों से ठीक पहले भाजपा ने कांग्रेस के कद्दावर नेता कमलेंद्र कश्यप को भाजपा में शामिल कर कांग्रेस को बड़ा झटका दिया था। वहीं कमलेंद्र ने वार्ड नंबर तीन से जीत दर्ज कर भाजपा को बढ़त दिलवाई। वहीं वीना पंडित ने भी वार्ड नंबर पांच से भारी मतों से अपने प्रतिद्वंद्वी को मात दी है। इन चुनावों में भाजपा ने नप पर अपना कब्जा तो कर लिया, लेकिन अध्यक्ष पद की कुर्सी के लिए कौन बाजी मारेगा, अब यह देखना बाकी है। कमलेंद्र कश्यप के सिर नप अध्यक्ष का ताज सजेगा या निर्दलीय पार्षद के तौर पर जीत हासिल करने वाले पूर्व पार्षद नरेंद्र पंडित की धर्मपत्नी वीना पंडित को अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठाया जाएगा, यह स्थिति जल्द ही साफ होगी।



Source link

I am a doctor from Himachal. settled outside Himachal and hungry for news about Himachal.